Advertisement

ranchi

  • Aug 20 2017 6:39AM

तेज आवाज के साथ फटी पांच सौ फीट जमीन, दो दर्जन मकान ध्वस्त, एक की मौत

तेज आवाज के साथ फटी पांच सौ फीट जमीन, दो दर्जन मकान ध्वस्त, एक की मौत
घनुडीह/लोदना: लोदना क्षेत्र के कुजामा मोहरीबांध में शनिवार को अपराह्न दो बजे जोरदार आवाज के साथ पांच सौ फीट जमीन धंस गयी. इससे करीब 50 घरों में दरार पड़ गयी और दो दर्जन घर ध्वस्त हो गये. वहीं बीसीसीएलकर्मी रामप्रवेश साव का दो मंजिला बीसीसीएल आवास जमींदोज हो गया. उसमें श्री साव की मां भगवानी देवी (80) मलबे में दब गयी.

उन्हें काफी मशक्कत से पे-लोडर लगा कर चार घंटे बाद निकाला जा सका. इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी. तिसरा अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद सेंट्रल अस्पताल धनबाद रेफर कर दिया, जबकि श्री साव की भाभी सुमित्रा देवी का पैर टूट गया. पड़ोसियों ने श्री साव की बेटी पूनम साव (18), ऊपर तल्ला में फंसे को सीढ़ी लगा कर बाहर निकाला. वहीं मोहरीबांध बिजली घर के पास हवा चानक की दीवार गिरने से भागीरथ मोदी का पुत्र रोहित मोदी (17) भी घायल हो गया. घटना के बाद क्षेत्र में कोहराम मच गया. सभी जान बचा कर सड़क पर आ गये.
 
आक्रोशित लोगों ने की सड़क जाम: उसके बाद आक्रोशित लोगों ने मोहरीबांध के समीप झरिया-बलियापुर मार्ग को टायर जला कर जाम कर दिया. बीसीसीएल व जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. घटना की सूचना पाकर एसडीएम राकेश कुमार, सिंदरी डीएसपी प्रमोद कुमार केसरी, लोदना जीएम कल्याणजी प्रसाद, रेस्क्यू टीम के सुपरिटेंडेंट एसके डे दल-बल के साथ पहुंचे और क्षेत्र की घेराबंदी की दी. लोगों को भूधंसान स्थल पर जाने से रोक लगा दी और बचाव कार्य शुरू कर दिया. उन्होंने घटना की सूचना उपायुक्त को दी. करीब साढ़े पांच बजे धनबाद डीसी ए डोड्डे, धनबाद एसएसपी मनोज रतन चौथे , विधि व्यवस्था एडीएम राकेश कुमार दुबे , दंडाधिकारी रामप्रवेश यादव , झरिया सीओ केदारनाथ सिंह व झरिया थानेदार उपेंद्रनाथ राय पहुंचे. घटना स्थल का जायजा लिया और सभी अधिकारी वापस लौट गये. शाम 6.25 बजे मलबे में दबी महिला भगवानी देवी को बाहर निकाल कर एंबुलेंस से सेंट्रल अस्पताल धनबाद भेजा गया. बचाव कार्य में गैस कटर व जैक की सहायता ली गयी.
 
35 बीसीसीएल कर्मियों की शिफ्टिंग शुरू : लोदना प्रबंधन ने मोहरीबांध कुजामा के आसपास रहनेवाले 35 बीसीसीएल कर्मियों को तिसरा क्षेत्रीय अस्पताल के पास नवनिर्मित बीसीसीएल आवास में शिफ्टिंग की प्रक्रिया शुरू कर दी. वहीं गैर बीसीसीएल कर्मियों को लोदना डीएवी , लोदना डिस्पेंसरी, लोदना पुराना सीआइएसएफ कैंप, बस्ताकोला गेस्ट हाउस में तत्काल अस्थायी पुनर्वास कराने का पहल शुरू कर दी गयी है. लेकिन ग्रामीणों ने इसका विरोध कर बेलगढ़िया में पुनर्वास कराने की मांग की है. इसको लेकर कई संगठन के केंद्रीय नेता ग्रामीणों के साथ रणनीति बना रहे हैं.  
 
सभी को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट कराया जायेगा : धनबाद उपायुक्त ए दोड्डे ने कहाकि झरिया मास्टर प्लान के तहत अग्नि प्रभावित क्षेत्रों में रहनेवाले गैर बीसीसीएल कर्मियों को, जिनका सर्वे हो चुका है. उसे बेलगढ़िया में पुनर्वास कराया जायेगा. मोहरीबांध कुजामा में रहनेवाले प्रभावित गैर बीसीसीएल कर्मियों को तत्काल अस्थायी पुनर्वास बीसीसीएल के सहयोग से कराया जायेगा. 
 
गैर बीसीसीएल कर्मियों के पुनर्वास में निगम मदद करेगी: मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने कहा कि सभी प्रभावितों को सुरक्षित स्थान पर पुनर्वास कराया जायेगा. धनबाद नगर निगम गैर बीसीसीएल कर्मी को पुनर्वास करने में हर संभव मदद करेगी.
 
किसी भी प्रभावितों के साथ अन्याय नहीं होगा: डिप्टी मेयर एकलब्य सिंह ने कहा कि किसी भी प्रभावित परिवार के साथ अन्याय नहीं होने देंगे. सभी को तत्काल सुरक्षित स्थान पर सभी सुविधा के साथ पुनर्वास कराया जायेगा. लोदना जीएम को प्रभावितों को शिफ्टिंग करने का कहा.
 

Advertisement

Comments

Advertisement