Advertisement

Pathak Ka Patra

  • May 18 2017 6:03AM

अंगदान के लिए जागरुकता

भारत में अंगदान के प्रति लोगों की जागरूकता न के बराबर है. यहां लोगों को पता ही नहीं कि अगर अंगदान करना है, तो वे किस व्यक्ति से संपर्क करें या कहां जायें, क्योंकि कुछ चुनिंदा अस्पताल ही इसके लिए अधिकृत हैं. यह सुविधा हर अस्पताल में उपलब्ध भी नहीं है. दूसरी समस्या है कि जहां इसकी सुविधा है, वहां इसके लिए लंबी चौड़ी फीस ली जाती है. 
 
स्वास्थ्य मंत्रालय एक अभियान चला कर लोगों को अंगदान के प्रति जागरूक करे और साथ में सभी अस्पतालों को इससे जोड़े. लोगों को बताया जाये कि वे इसके लिए किससे संपर्क कर सकते हैं? इस बारे में जो भ्रांतियां हैं, उन्हें भी दूर करने की जरुरत है, ताकि लोग आगे आएं. ताकि जरूरतमंद लोगों को अंगप्रत्यारोपण से एक नयी जिंदगी मिल सके.
डॉ शिल्पा जैन सुराणा, वरंगल, तेलंगाना
 

Advertisement

Comments

Advertisement