Advertisement

jamshedpur

  • May 19 2017 6:26AM

झारखंड में फैली है बच्चा चोर की अफवाह, एक दिन में कर दी गयी छह लोगों की हत्या, VIDEO

झारखंड में फैली है बच्चा चोर की अफवाह, एक दिन में कर दी गयी छह लोगों की हत्या, VIDEO
जमशेदपुर : राजनगर और बागबेड़ा थाना क्षेत्र में गुरुवार को बच्चा चोरी का आरोप लगाते हुए छह लोगों की हत्या कर दी गयी. राजनगर में जहां अहले सुबह  तीन लोगों की हत्या की गयी. वहीं बागबेड़ा थाना क्षेत्र में रात नौ बजे तीन लोगों की हत्या की गयी. एक महिला घायल हो गयी. दोनों जगहों पर पुलिस को भीड़ के गुस्से का सामना करना पड़ा, जिससे एक दर्जन से अधिक पुलिसवाले घायल हो गये. वरीय पुलिस अधिकारी ने राजनगर में जाकर स्थिति का जायजा लिया. राजनगर में छह लोगों को हिरासत में लिया गया है. समाचार लिखे जाने तक बागबेड़ा में किसी को हिरासत में नहीं लिया गया. दोनों स्थानों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं
 
 
 
 
 
बागबेड़ा में तीन की हत्या
 
बागबेड़ा थाना क्षेत्र के नागाडीह क्षेत्र में बच्चा चोर के संदेह में ग्रामीणों ने गुरुवार रात तीन लोगों को पीट-पीट कर मार डाला तथा एक महिला को घायल कर दिया. बंधक बनाये लोगों को बचाने आयी पुलिस पर भी लगभग दो हजार ग्रामीणों ने पथराव कर दिया, जिसमेंं डीएसपी विमल कुमार व एक दर्जन जवान घायल हो गये. पथराव में डीएसपी की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गयी है.
 
 
 
दो मृतकों के पास से मिले आधार कार्ड के आधार पर उनकी पहचान हुई है. मृतक उत्तम कुमार वर्मा नया बाजार जुगसलाई का रहनेवाला था. दूसरा मृतक गंगेश गुप्ता मकान संख्या 123, गोवर्धन के पास थाना बागबेड़ा निवासी था. तीसरे मृतक की पहचान नहीं हो पायी है. घायल महिला भी अपनी पहचान नहीं बता पायी. उसकी उम्र 60 वर्ष से ज्यादा है. 
 
 
 
गांव के बाहर फोर्स का जमावड़ा, गांव के अंदर घुसने की तैयारी
 
घटना की जानकारी मिलने पर सिटी एसपी प्रशांत आनंद, डीटीओ रवि रंजन, सीओ महेश्वर प्रसाद, डीएसपी (सीसीआर) सुधीर कुमार, डीएसपी मुख्यालय केएन मिश्रा, सिटी डीएसपी अनिमेष नैथानी, डीएसपी विधि व्यवस्था समेत कई थाना प्रभारी और अतिरिक्त  फोर्स के साथ गांव के बाहर पहुंच गये है और गांव में घुसने की तैयारी कर रहे हैं. 
 
भीड़ ने नहीं दिखायी दया
 
राजनगर में बच्चा चोरी करने का आरोप लगने के बाद ग्रामीणों की पिटाई से लहूलुहान मो नईम लोगों से जान बख्शने की गुजारिश करता रहा, भीड़ को दया नहीं आयी,नईम की मौत हो गयी.
 
राजनगर व बागबेड़ा थाना क्षेत्र की घटना, दर्जनों घरों में तोड़फोड़, गाड़ियां फूंकी
 
इनकी हुई हत्या
राजनगर के शोभापुर में
- मो नईम
- सेराज खान
- सज्जू

बागबेड़ा में
- उत्तम वर्मा
- गंगेश गुप्ता
- एक अज्ञात
लापता
- शेख हलीम

इनके घर तोड़े
जैनुल हक, जसमुन, अजीजुल, अब्दुल हाई, मो मुर्तजा
राजनगर के शोभापुर और पदनामसाई गांव में सुबह तीन लोगों की हत्या कर दी गयी. वहीं बागबेड़ा में रात नौ बजे तीन की हत्या की गयी
पथराव में कई  पुलिसकर्मी घायल
एक महिला भी जख्मी 
देर रात रांची से वरीय पुलिस पदािधकारी घटनास्थल पर पहुंचे
  
 
राजनगर के शोभापुर : आतंक के तीन घंटे
 
बच्चा चोरी करनेवाले लोगों को छुपाने के आरोप में राजनगर के दर्जनों गांव के लोग एकजुट हो गये थे. वे शाेभापुर पहुंचे. प्रारंभ में लोगों ने शोभापुर के लोगों से कथित बच्चा चोरों को सौंपने की मांग की. एक घंटे इंतजार करने पर भीड़ उग्र हो गयी और कई घरों पर हमला कर दिया. ग्रामीणों ने पुलिस से मो नईम को सौंपने की मांग की. पुलिस ने इससे इनकार कर दिया.  
 
पुलिस का कड़ा रुख देखकर हजारों ग्रामीणों ने पुलिस पर हमला कर दिया. इसी दौरान भीड़ के भय से भागने के प्रयास में मो नईम लोगों के हत्थे चढ़ गया. ग्रामीणों ने लाठी-डंडों से उसकी पिटायी कर दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी. भीड़ ने गांव में उपद्रव जारी रखा. वे करीब तीन घंटे तक अल्पसंख्यकों के घरों में घुस-घुसकर तोड़फोड़ मचाते रहे. उनके सामानों को निकालकर आग लगा दी.
 
 
 
बागबेड़ा में ऐसे हुई घटना
 
रात साढ़े आठ -पौने नौ बजे तीन पुरुष तथा एक महिला गांव से तेज गति से गुजर रहे थे. गांव में बैठे कुछ लोगों ने बच्चा चोर होने के संदेह में उन्हें पकड़ लिया और बच्चे की मांग की. 
 
चारों ने इस संबंध में अनभिज्ञता जाहिर की. इस पर ग्रामीणों ने तीन पुरुषों में से दो को खंभे से बांध दिया और बांस, डंडे, पत्थर से पिटाई शुरू कर दी. दूसरी तरफ महिला एवं एक अन्य पुरुष की भी पिटाई की गयी. घटना की जानकारी मिलने पर डीएसपी (विधि व्यवस्था) और बागबेड़ा थाना प्रभारी कुछ पुलिसकर्मियों के साथ वहां पहुंचे. डीएसपी बच्चा चोरी की बात को अफवाह और कानून हाथ में नहीं लेने की घोषणा मिनी माइक लेकर करने लगे. 
 
इस बीच भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया. पथराव में डीएसपी और कई पुलिसकर्मियों को चोट लगी है. हेलमेट पहनने के कारण वह बच गये. इसके बाद पुलिसकर्मी पीछे लौट गये. आसपास की थाना से पुलिस बुला कर गांव में प्रवेश कर चारों घायलों को निकाल कर टीएमएच पहुंचाया गया, जहां तीन लोगों की मौत हो गयी है, जबकि महिला का इलाज चल रहा है.
 
 

Advertisement

Comments