Advertisement

giridih

  • May 19 2017 9:24AM

चक्का जाम का मिला-जुला असर

गिरिडीह : आठ सूत्री मांगों को लेकर झाविमो के चक्का जाम का गिरिडीह जिला में मिला-जुला असर रहा. गुरुवार को चक्का जाम करने के लिए झाविमो नेता व कार्यकर्ता अहले सुबह ही सड़कों पर उतर गये. इस दौरान गिरिडीह-डुमरी मार्ग पर चमरखो व बरहमोरिया मोड़, गिरिडीह-टुंडी मार्ग पर मोहनपुर व चाइना गेट मोड़, गिरिडीह-मधुपुर मार्ग पर सोनबाद तथा गिरिडीह-जमुआ मार्ग पर कोवाड़ के पास कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर दिया. इससे विभिन्न मार्गों पर गाड़ियों की लंबी कतार लग गयी.
 
हालांकि जाम से स्टूडेंट के वाहनों व एंबुलेंस काे मुक्त रखा गया था. चक्का जाम के कारण सुबह के वक्त ट्रकों का परिचालन करीब चार घंटे तक ठप रहा, वहीं बसों का परिचालन कुछ देर तक नहीं होने से यात्री भी परेशान दिखे. गिरिडीह बाजार पर इसका कोई असर नहीं दिखा. इधर शहरी क्षेत्र में झाविमो के केंद्रीय सचिव सुरेश प्रसाद साव के नेतृत्व में पार्टी नेता व कार्यकर्ता सड़क पर उतर कर सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया. साथ ही बस पड़ाव, मोहनपुर समेत अन्य स्थानों में टायर जला कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की. पूर्व विधायक लक्ष्मण स्वर्णकार के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ता सोनबाद के पास घंटों डटे रहे. 
कार्यकर्ताओं को लाया गया कंट्रोल रूम, छोड़ा
 
चक्का जाम कराने के लिए पूर्व विधायक ज्योतिंद्र प्रसाद, जिलाध्यक्ष महेश राम, नगर अध्यक्ष नवीन कुमार सिन्हा, सुमन सिन्हा, राजेश जायसवाल, सुरेश प्रसाद मंडल, शोभा यादव, मो. साबिर खान, मनोज संगई, टेको रविदास, रीता देवी, अजीत सिंह, नारायण पांडेय, विनोद वर्मा, गोविंद मंडल, भीम चंद्रवंशी, तूफानी सिंह, सीताराम मरीक, मो. अशरफ, मोतीलाल टुडू, सूरज सिंह, गुड्डू सिन्हा आदि ने सक्रिय भूमिका अदा की. इधर, करीब साढ़े दस बजे के आसपास पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं को विभिन्न स्थानों से गिरफ्तार कर कंट्रोल रूम लाया गया. जहां से कुछ देर के बाद सबों को छोड़ दिया गया. इसके बाद वाहनों का आवागमन सामान्य हुआ.  
 
चाक-चौबंद थी सुरक्षा व्यवस्था 
 
चक्का जाम को लेकर सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गयी थी. शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर सुरक्षा बल के जवान तैनात थे. सुरक्षा व्यवस्था को लेकर एसडीओ नमिता कुमारी, बीडीओ अशोक कुमार, डीएसपी विजय आशीष कुजूर व दंडाधिकारी महेंद्र रविदास लगातार विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण कर रहे थे.  चमरखो में सड़क जाम की सूचना पर मुफस्सिल थाना प्रभारी रामनारायण चौधरी पहुंचे और कार्यकर्ताओं को समझा-बुझा कर जाम हटवाया, वहीं ओपी प्रभारी आरएन मुंडा मोहनपुर में सड़क जाम हटवाया. 
 
अडाणी प्रकरण की हो न्यायिक जांच : सुरेश 
 
झाविमो के केंद्रीय सचिव सुरेश प्रसाद साव ने कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में कॉरपोरेट घरानों की मदद की जा रही है. उन्होंने गोड्डा में अडाणी प्रकरण की न्यायिक जांच कराने की मांग की.  
 
प्रदीप यादव पर झूठा मुकदमा : लक्ष्मण स्वर्णकार
 
पूर्व विधायक लक्ष्मण स्वर्णकार ने कहा कि किसानों के हक में लड़ाई लड़ने पर सरकार ने विधायक प्रदीप यादव पर झूठा मुकदमा दर्ज किया है. भाजपा सरकार जबरदस्ती किसानों की जमीन को ले रही है. सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन कर झारखंडवासियों व मूलवासियों के साथ नाइंसाफी की गयी है.  
 
चक्का जाम टांय-टांय फिस्स : विधायक
 
भाजपा विधायक निर्भय कुमार शाहाबादी ने कहा कि झाविमो के चक्का जाम को जनता ने सिरे से खारिज कर दिया है. चक्का जाम कार्यक्रम टांय-टांय फिस्स हो गया. इस दौरान जिले के बड़े नेता नजर नहीं आये. एक ही ग्रुप में शामिल चंद चेहरे सभी जगह नजर आ रहे थे. कहा कि भाजपा सरकार 'सबका साथ-सबका विकास' के नारे के साथ काम कर रही है. समाज के अंतिम व्यक्ति तक विकास की रोशनी पहुंचायी जा रही है. उन्होंने कहा कि झाविमो जैसी पार्टियां विकास कार्यों में बाधक बनी हुई है.
 
 
कई नेता चक्का जाम कार्यक्रम से रहे नदारद
 
चक्का जाम कार्यक्रम से झाविमो के कई नेता नदारद रहे. नप अध्यक्ष सह झाविमो नेता दिनेश प्रसाद यादव, झाविमो के वरिष्ठ नेता चुन्नूकांत समेत कई नेता चक्का जाम कार्यक्रम में नहीं दिखे. इस संबंध में झाविमो के जिला मीडिया प्रभारी राजेश जायसवाल ने बताया कि नप अध्यक्ष द्वारा आज बोर्ड की बैठक में शामिल होने की बात कही गयी थी, वहीं झाविमो नेता चुन्नूकांत को सोनबाद के पास चक्का जाम कार्यक्रम का नेतृत्व करना था, लेकिन वह कुछ कारणों से उपस्थित नहीं हो सके.
 

Advertisement

Comments

Advertisement