Advertisement

giridih

  • May 19 2017 9:23AM

जगह-जगह पार्टी कार्यकर्ताओं ने दी गिरफ्तारी

राजधनवार/डोरंडा : धनवार प्रखंड अध्यक्ष देवनारायण यादव के नेतृत्व में गुरूवार सुबह 6.30 बजे से खोरीमहुआ रोड जाम कर दिया. लगभग नौ बजे  पुलिस ने जाम हटवाने की पहल शुरू की. जाम नहीं हटाये जाने पर कार्यकर्ताओं को थाना लाया गया और करीब 11 बजे छोड़ दिया गया. आंदोलन में पूर्व विधायक गुरूसहाय महतो, केंद्रीय समिति सदस्य अजय रंजन, महामंत्री अजीत रजक, सुनील सिंह, विकास, वीरेंद्र राम, मनोज आदि दर्जनाधिक लोगों ने भाग लिया. 
 
फ्लॉप रहा चक्का जाम : भोक्ता : भाजपा के जिला महामंत्री बसंत भोक्ता एवं अन्य ने झाविमो के चक्का जाम आंदोलन को फ्लॉप बताया. कहा कि कुछ लोग कुछ देर के लिए रोड पर चक्का जाम के नाम पर नौटंकी करते देखे गये, लेकिन जनता ने उन्हें नकार दिया. मौके पर विवेक विकास, महेंद्र चौधरी, नारायण विश्वकर्मा, त्रिवेणी ठाकुर, राजेश अग्रवाल आदि मौजूद थे. 
 
पीरटांड़.  चक्का जाम कार्यक्रम विफल रहा.   दुकानें खुली रही. वाहन भी चलते रहे. बैंक भी खुले रहे.  निजी व सरकारी संस्थानों में चालू रहे  झाविमो प्रखंड अध्यक्ष शमसाद आलम यह कहते रहे कि जाम करेंगे, पर जाम नहीं हो सका. 
 
डुमरी : चक्का जाम आंदोलन पूरी तरह से डुमरी प्रखंड विफल रहा. झाविमो का कोई भी कार्यकर्ता सड़क पर नहीं उतरा
चार घंटे जाम रखी सड़क : लेदा. गिरिडीह-कोडरमा पथ पर कोवाड़ मोड़ के पास झाविमो कार्यकर्ताओं ने चार घंटे तक आवागमन को बाधित रखा.   दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गयी.इसकी अगुआई विनोद वर्मा ने की. मौके पर प्रखंड अध्यक्ष नारायण पांडेय, मनोज पाण्डेय, लक्ष्मी रजक, खूबलाल मंडल, अम्बिका सिंह, चन्दन कुमार, सौरव, राजेश कुमार दास, ललित नारायण तिवारी, छोटू सिंह, दिलीप साव, मुकेश यादव आदि मौजूद थे. 
 
झाविमो का चक्का जाम पूर्णत: विफल : भाजपा  : गिरिडीह.  भाजपा के जिलाध्यक्ष प्रकाश सेठ ने कहा कि झाविमो का चक्का जाम गिरिडीह  जिले में पूर्णत: विफल रहा.  कहा कि झाविमो नेता प्रदीप यादव की  गिरफ्तारी का मामला न्यायिक प्रक्रिया के अधीन है. लिहाजा कानून को अपना  काम करने देना चाहिए. जहां तक सीएनटी - एसपीटी एक्ट में संशोधन की बात है  तो वह विधानसभा से पारित हो चुका है. यह झारखंड के आदिवासियों एवं पिछड़ी  जातियों से जुड़ा मामला है, इसलिए इसपर ओछी राजनीति नहीं होनी चाहिए.  
 
श्री सेठ ने कहा कि अडानी के द्वारा पावर प्लांट लगाने के लिए गोड्डा के 85  फीसदी ग्रामीणों ने अपनी जमीन देने पर सहमति जतायी है. लोग समझ चुके हैं कि  पावर प्लांट लगने से रोजगार के अवसर खुलेंगे. उन्होंने कहा कि झाविमो,  वामदलों, झामुमो एवं राजद जैसी पार्टियों को गंदी राजनीति तथा स्वार्थ की  भावना से ऊपर उठकर मुख्यमंत्री रघुवर दास के द्वारा उठाये गये कदमों का  नैतिक समर्थन करना चाहिए. 
 

Advertisement

Comments