Advertisement

gadget

  • May 16 2017 2:01PM

प्रभात डिजिटल पड़ताल : झूठ निकला 10 सेकेंड में मोबाइल चार्ज करने का दावा

प्रभात डिजिटल पड़ताल : झूठ निकला 10 सेकेंड में मोबाइल चार्ज करने का दावा

यू ट्यूब में ऐसे कर्इ वीडियो मौजूद है जिसमें कर्इ तरह के दावे किये जाते है. आज हम आपको ऐसे ही एक वायरल हो रहे यू ट्यूब वीडियो की असलियत बता रहे हैं. वायरल हो रही इस वीडियो में बताया गया है कि किस तरह आप अपने स्मार्टफोन को मात्र 10 सेकेंड में फुल चार्ज कर सकते है. इस वीडियो में ऐसा करके भी दिखाया गया है. इस वीडियो की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे करीब 16 लाख से ज्यादा बार देखा गया है, कुल 20,322 लोगों ने इसे लाइक भी किया है जबकि मात्र 4,541 लोगों ने ही इसे अनलाइक किया है.

इस वीडियो में बताया गया है कि कैसे आप अपने घर के वेस्ट प्रोडक्ट को उपयोग में लाकर चार्ज करने की क्षमता को दोगुना से भी ज्यादा कर सकते है. इसके लिए एक एलुमिनीयम पेपर एक डाटा केबल व एक नार्मल चार्जर की जरूरत है. एलुमिनीयम पेपर में पहले मोबाइल को लपेट कर उसे एक डाटा केबल से बांध दिया जाता है. ताकि एलुमिनीयम पेपर मोबाइल का आकार ले ले. उसके बाद स्मार्टफोन को उस पेपर के अंदर डाल कर उसे नार्मल चार्जर से चार्ज किया जाता है और इसे दिखा कर दावा किया जाता है कि यह 10 सेकेंड में फूल चार्ज हो जा रहा है.

लेकिन जब प्रभात खबर डिजीटल इसकी पुष्टी नहीं करता है उसके पिछे कारण निम्नलीखित है- 

1. पड़ताल में मालूम चला की वीडियो कुल 3 मिनट 38 सेकेंड की है जिसके 1 मिनट 15 व 16 सेकेंड में बदलाव दिख रहा है. 

2. 10 सेकेंड में चार्ज होने कि प्रर्किया को मोबाइल के स्क्रीन पर नहीं दिखाया गया है. उसे जानबूझकर कवर कर दिया गया है. 

3. यू ट्यूब में एेसे कर्इ आैर वीडियो मौजूद है जो इसकी पुष्टी नहीं करते है. इन वीडियो में साफ-साफ दिखाया गया है की ये दावा बिल्कूल गलत है. एेसे ही एक वीडियो को आपके साथ शेयर कर रहे है -



Advertisement

Comments

Advertisement