Advertisement

bhojpur

  • May 18 2017 8:00PM

दूल्हे ने रेल मंत्री को किया ट्वीट, लिखा- प्रभु, कुछ कीजिए नहीं तो टूट जाएगी मेरी शादी, फिर...

दूल्हे ने रेल मंत्री को किया ट्वीट, लिखा- प्रभु, कुछ कीजिए नहीं तो टूट जाएगी मेरी शादी, फिर...

आरा : बिहार में आरा से दूल्हा अपनी बरात लेकर दिल्ली अपनी शादी कर दुल्हन लाने जा रहा था. तभी रास्ते में ट्रेन लेट हो गयी. जिसके बाद दूल्हे ने ट्वीट कर रेल मंत्री सुरेश प्रभु से गुहार लगायी और कहा, देर हुई तो शादी नहीं हो पाएगी. सुरेश प्रभु ने उसकी आवाज सुनी और ट्रेन को सही समय पर पहुंचाने का आदेश दिया. जिसके बाद दूल्हा अपनी दुल्हन के साथ सात फेरे ले पाया.

दरअसल, भोजपुर जिले के बिहिया प्रखंड स्थित नवाडीह गांव निवासी निर्मल ओझा के बेटे सुशील कुमार की सोमवार को नयी दिल्ली में शादी थी. जिसमें शामिल होने के लिए 86 बरातियों का आरक्षण 14 मई को आरा से नयी दिल्ली तक स्लीपर क्लास की बोगी एस-5 और एस-6 में था. नयी दिल्ली में वैवाहिक कार्यक्रम शाम छह बजे का था. लिहाजा बारात के लिए ट्रेन 12401 मगध एक्सप्रेस को चुना गया. आरा में इस ट्रेन को रविवार शाम 7:04 बजे आकर सोमवार सुबह 11:50 बजे पहुंचना था, लेकिन ट्रेन 3:29 घंटे की देरी से रात 10:33 बजे आरा पहुंची.

इस ट्रेन के कई दिनों तक लेट चलने की सूचना बरातियों ने दूल्हे को दी. परेशान दूल्हे ने अंदाजा लगाया कि यदि ट्रेन छह घंटा भी लेट हुई तो नयी दिल्ली ही शाम छह बजे के बाद पहुंचाएगी. ऐसे में शाम छह बजे से वैवाहिक कार्यक्रम शुरू नहीं हो सकेंगे. लिहाजा दूल्हे ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु के पोर्टल और ट्विटर पर शिकायत कर दी. दूल्हे ने कहा कि मगध एक्सप्रेस पिछले कई दिनों से छह से 10 घंटे की देरी से नयी दिल्ली पहुंच रही है. ऐसे में यदि यह ट्रेन सोमवार को भी लेट हुई तो बारात बीच रास्ते फंसी रह जाएगी और शादी नहीं हो पाएगी.

ट्विटर की शिकायत को रेल मंत्रालय ने लखनऊ रेफर कर दिया. लखनऊ से शिकायत को इलाहाबाद रेफर किया गया. रेल मंत्री ने दूल्हे की परेशानी को कुछ हद तक कम किया. ट्रेन इलाहाबाद पहुंचने तक 5:05 घंटा लेट हो गयी, जबकि कानपुर आने तक यह 5:45 घंटा पिछड़ गयी. ट्रेन फिरोजाबाद पहुंची तो 6:39 घंटा लेट हो चुकी थी.

उधर, वधू पक्ष भी ट्रेन की सुस्त चाल से परेशान हो रहा था. लिहाजा दूल्हे को बार-बार फोन कर उसकी लोकेशन ली जा रही थी. परेशान दूल्हा रेल मंत्री के ट्विटर पर बार-बार ट्रेन को तेज चलाने की गुहार लगाता रहा. रेल मंत्री के आदेश पर कुछ राहत मिली और ट्रेन ने अपना समय दो घंटा कवर कर लिया. ट्रेन नयी दिल्ली 4:55 घंटा की देरी से शाम 4:45 बजे पहुंची तो दुल्हे ने राहत की सांस ली. इसके बाद दूल्हे ने अपनी दुल्हन का हाथ थाम कर सात फेरे लिये. दूल्हे ने इसके लिए सुरेश प्रभु को शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि रेल मंत्री और उनकी टीम की कृपा से आज मैं दूल्हा बन पाया और शादी के बंधन में बंध पाया.

 

Advertisement

Comments